Shopping cart
₹0.00
Sale!

Willmar Schwabe India Paris Quadrifolia 200 CH (30ml)

In stock

सिरदर्द, नसों का दर्द, जोड़ों का दर्द, कमर दर्द, गले में खराश, मुंह सूखने के लिए।
For headache, neuralgia, joint pains, back pain, sore throat, dry mouth.

100.00

Description

WSI Paris Quadrifolia 200 CH

Medicine Name : Paris Quadrifolia 200 CH
Company Name : Willmar Schwabe India
Ingredients Base : Homeopathic
Form : Drops
Presentation : 30 ML
Potency : 200 Ch (Dilution)

Paris Quadrifolia
Common Name:One-berry  
सामान्य नाम: एक-बेर

पैरिस क्वाड्रिफोलिया, Paris Quadrifolia

पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग सिर की नसों के दर्द को ठीक करने के लिए किया जाता है। इस प्रकार के दर्द के साथ ही रोगी को ऐसा महसूस होता है कि मानों आंखें बाहर निकली जा रही है और दर्द ऐसा लगता है जैसे कि मानों आंख का ढेला किसी डोरी से पीछे की ओर दिमाग के साथ खींचा जा रहा है। विभिन्न लक्षणों में पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का
The drug Paris quadrifolia is used to cure pain in the nerves of the head. With this type of pain, the patient feels as if the eyes are coming out and the pain feels as if the lob of the eye is being pulled from a lanyard with the brain backwards. Paris quadrifolia drug in various symptoms

उपयोग:
मन से सम्बन्धित लक्षण : पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग ऐसे रोगी के रोग को ठीक करने के लिए किया जाता है जो काल्पनिक बदबू महसूस करता है। सिर बहुत बड़ा महसूस होता है। ऐसे रोगी कुछ न कुछ बड़बड़ाता रहता है और बकवास करता रहता है और फुर्तीला होता है।
Use:
Symptoms related to mind: Paris quadrifolia drug is used to cure the disease of a patient who feels imaginary smell. The head feels very big. Such patient keeps mumbling something and keeps on talking nonsense and is agile.

सिर से सम्बन्धित लक्षण :
रोगी को ऐसा महसूस होता है कि सिर की त्वचा सिकुड़ गई है और हडि्डयां खुरच गई हैं। सिर के ऊपरी भाग में दर्द होता है और इसके कारण रोगी कंघी भी नहीं कर पाता है। सिर में हल्का-हल्का दर्द होने के साथ ही ऐसा महसूस होता है कि आंखें धागे से बंधकर सिर के पीछे के भाग की तरफ खींची जा रही हैं। सिर के पिछले भाग में दर्द होने के साथ ही दबाव महससू होता है तथा सिर बहुत बड़ा महसूस होता है और फैला हुआ महसूस होता है। माथे और कनपटियां कसी हुई महसूस होती हैं, दिमाग, आंखें और खाल तनी हुई महसूस होती है और खोपड़ी की हड्डी में ऐसा दर्द महसूस होता है कि मानों छिल गया है, हाथ-पैर चलाने से, उत्तेजित होने से, आंखों से काम लेने से और शाम के समय में इस प्रकार के लक्षणों में वृद्धि होती है। इस प्रकार के सिर से सम्बन्धित लक्षणों में से यदि कोई भी लक्षण किसी व्यक्ति को हो गया है तथा इसके साथ ही रोगी को अपना सिर छूने पर दर्द अधिक महसूस हो रहा हो और सिर के बायें भाग में सुन्नपन महसूस हो तो उसके रोग के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना फायदेमन्द होता है।
Symptoms related to head:
The patient feels as if the skin of the head has shrunk and bones have been scratched. There is pain in the upper part of the head and due to this, the patient is not able to even comb. With mild pain in the head, it is felt that the eyes are being tied to the back part of the head with a thread. With pain in the back of the head, the pressure is felt and the head feels very big and feels stretched. The forehead and temples feel tight, the mind, eyes and skin feel cramped and there is pain in the skull bone that feels as if it has been chipped off, from running hands and feet, from being excited, from working with the eyes. And in the evening time these types of symptoms increase. If any of the symptoms related to this type of head has happened to a person, and with this, the patient feels more pain on touching his head and feels numbness in the left side of the head. It is beneficial to use Paris quadrifolia to cure.

हृदय से सम्बन्धित लक्षण : शाम के समय में हृदय की धड़कनों की गति बढ़ जाती है। इस प्रकार के लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना लाभदायक होता है।
Symptoms related to heart: In the evening time the speed of heart beats increases. To cure the symptoms of the patient suffering from these types of symptoms, using Paris Quadrifolia is beneficial.

आंखों से सम्बन्धित लक्षण :
भौंहों के ऊपर घाव होना, आंखें भारी महसूस होना, आंखें सामने की ओर उभरी हो, आंखें ऐसी महसूस हो रही हो कि वे किसी धागे से बंधकर सिर के पीछे के भाग की ओर खींच रही हैं, आंखें फैली हुई हो और ऐसा महसूस हो रहा हो कि वे पलकें को ढक नहीं पातीं। इस प्रकार के लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना उचित होता है।
Symptoms related to eyes:
Wounds above the eyebrows, eyes feeling heavy, eyes bulging in front, eyes feeling as if they are being tied to a thread and pulled towards the back of the head, eyes widened and feeling Maybe they can’t cover the eyelids. To cure the symptoms of the patient suffering from such symptoms, it is appropriate to use Paris quadrifolia.

चेहरे से सम्बन्धित लक्षण :
चेहरे की नाड़ियों में दर्द होता है तथा बाईं गण्डास्थि में गरम सुई चभने जैसी अनुभूति होती है, गण्डास्थि पर अधिक दर्द होता है तथा इसके साथ ही आंखों में जलन भी होती है। इस प्रकार के लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना चाहिए।
Symptoms related to face:
There is pain in the nerves of the face and there is a feeling of hot needle prickling in the left gonadal, there is more pain in the gonadal and there is also a burning sensation in the eyes. In order to cure the symptoms of the patient suffering from such symptoms, the use of Paris quadrifolia drug should be done.

मुंह से सम्बन्धित लक्षण :
रोगी जब जागता है तो उसका जीभ सूखा रहता है और उस पर सफेद लेप जम जाता है, जीभ का स्वाद कड़वा हो जाता है तथा जीभ का स्वाद फीका हो जाता है। इस प्रकार के लक्षणों के साथ ही रोगी को प्यास नहीं लगती है। ऐसे लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि उपयोग लाभदायक है। मुंह में पानी भरा रहता है और ऐसा महसूस होता है कि गले में कुछ गेन्द की तरह का चीज अटका हुआ है। मुंह में कठोर सूजन आ जाती है। इस प्रकार के लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना फायदेमन्द होता है।
Symptoms related to mouth:
When the patient wakes up, his tongue remains dry and white coating is applied on it, the taste of tongue becomes bitter and taste of tongue becomes faded. The patient does not feel thirst with such symptoms. For the treatment of the patient suffering from such symptoms, the use of Paris quadrifolia is beneficial. The mouth is full of water and it feels like something like a marigold is stuck in the throat. Severe swelling occurs in the mouth. To cure the symptoms of the patient suffering from such symptoms, it is beneficial to use Paris Quadrifolia.

श्वास संस्थान से सम्बन्धित लक्षण : हरे रंग का जमा हुआ कफ निकलता है। छाती में चुभन होती है। गला बैठ जाता है और दर्द होता है। नाक की जड़ पर पपड़ियां जम जाती है जिसके कारण सांस लेने में रुकावट होती है। गले में खराश उत्पन्न होने के साथ ही दर्द भी होता है। रोगी को खांसी भी हो जाती है और ऐसा लगता है कि खांसी वायुनली में गंधक की भाप के कारण हो रही है। स्वरयन्त्र या वायुनली में थक्केदार, हरा, श्लेष्मा रहने के कारण रोगी लगातार खखारता रहता है। गले और स्वरयन्त्र में चिपचिपा तथा लसलसा हरे रंग का कफ फंसा रहता है जिसके कारण रोगी हर वक्त खखारता रहता है। सुबह के समय में खांसी होने के साथ ही कफ भी निकलता है। शाम को सूखी खांसी हो जाती है। छाती में दबाव महसूस होता है, सांस लेने में पेरशानी होती है, नाक बन्द हो जाता है और नाक की जड़ में भरा-भरा सा दबाव महसूस होता है और रोगी को बदबू नहीं आती है। इस प्रकार के \’वास संस्थान से सम्बन्धित लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना उचित होता है।
Symptoms related to breathing institute: Green colored phlegm comes out. There is a prick in the chest. The throat gets sore and hurts. The crust settles at the root of the nose, causing obstruction in breathing. There is also pain with a sore throat. The patient also gets cough and it seems that cough is due to the smell of sulfur in the air. Due to clotting, green, mucus in the larynx or air duct, the patient keeps eating continuously. Sticky and sticky green colored phlegm remains stuck in the throat and larynx, due to which the patient keeps eating all the time. Besides coughing in the morning, phlegm also comes out. In the evening there is a dry cough. Pressure is felt in the chest, there is distress in breathing, the nose is closed and full pressure is felt in the root of the nose and the patient does not smell. It is advisable to use Paris Quadrifolia to cure the symptoms of a patient suffering from symptoms related to this type of habitat.

शरीर के बाहरी अंगों से सम्बन्धित लक्षण : गर्दन के हडि्डयों के जोड़ों और कंधों पर बोझ रखा हुआ महसूस होता है और इसके साथ ही थकान भी महसूस होती है। शरीर की नाड़ियों में दर्द होता है जो बायें अन्त:पर्शुक प्रदेश से शुरू होकर बाईं बाह तक फैल जाता है। नाड़ियां कठोर हो जाती है, उंगलियां मुड़ जाती हैं, रीढ़ की हड्डी के सबसे नीचे भाग की नाड़ियों में दर्द होता है, बैठते समय शरीर में कंपन महसूस होती है और चुभन सी महसूस होती है। उंगलियां सुन्न हो जाती है और शरीर के ऊपरी अंग भी सुन्न हो जाते हैं। हर चीज खुरदरी महसूस होती है। शरीर के कई अंगों में डंक मारने जैसा दर्द होता है, सारे शरीर में भारीपन महसूस होता है। शरीर में एकतरफा ठण्डा और दूसरी तरफ गर्म महसूस होती है। इस प्रकार के शरीर के बाहरी अंगों से सम्बन्धित लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना फायदेमन्द होता है।
Symptoms related to the external organs of the body:
The joints and shoulders of the neck bones feel burdened and at the same time fatigue is felt. There is pain in the nerves of the body, which starts from the left end of the anterior region and spreads to the left arm. The pulse becomes stiff, the fingers are twisted, the nerves in the lower part of the spine are painful, the body feels trembling and feels prickling while sitting. The fingers become numb and the upper body parts also become numb. Everything feels rough. There is pain like stinging in many parts of the body, heaviness is felt all over the body. The body feels unilateral cold and hot on the other side. Using this drug is beneficial to cure the symptoms of the patient suffering from symptoms related to the external organs of this body.

आमाशय से सम्बन्धित लक्षण :- आमाशय में भारीपन महसूस होता है और ऐसा लगता है कि आमाशय पर पत्थर रखा हुआ है। जब डकारें आती है तो कुछ आराम मिलता है। पाचन क्रिया भी कम हो जाती है। इस प्रकार के लक्षणों से पीड़ित रोगी के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि का प्रयोग करना लाभदायक होता है।
Symptoms related to stomach: – There is a feeling of heaviness in the stomach and it seems that a stone is placed on the stomach. When belching comes some relief. Digestion also decreases. To cure the symptoms of the patient suffering from these types of symptoms, using Paris Quadrifolia is beneficial.

वृद्धि (ऐगग्रेवेशन) :
सोचने से, मानसिक परिश्रम करने से या उत्तेजित होने से, आंखों को अधिक काम में लाने से, हाथ-पैर चलाने से तथा तम्बाकू का सेवन करने से रोग के लक्षणों में वृद्धि होती है।
शमन (एमेलिओरेशन) :-
रोग ग्रस्त भाग को दबाने और डकारें आने पर रोग के लक्षण नष्ट होने लगते हैं।
Increment:
Symptoms of the disease are aggravated by thinking, mental exertion, or by getting excited, by over-working the eyes, running the arms and legs and consuming tobacco.
Mitigation (Amelioration): –
Symptoms of the disease start to disappear when the affected part suppresses and bursts.

सम्बन्ध (रिलेशन) :
* बकवास करना, पागलपन की स्थिति होना, इधर-उधर देखते रहना दूध का न पचना। इस प्रकार के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैस्टिनैका पार्सनिप औषधि का प्रयोग करते हैं तथा इसकी जड़ें पथ्य के रूप में उपयोगकारी होती है, पानी में इसको उबालकर या काढ़ा बनाकर या सलाद के रूप में इसे क्षय रोगियों व गुर्दे के पथरी रोगियों को ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। ऐसे ही रोग के लक्षणों को ठीक करने के लिए पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि भी उपयोग कर सकते हैं। अत: पैस्टिनैका औषधि के कुछ गुणों की तुलना पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि से कर सकते हैं।
Relationship:
* Rubbish, having a state of insanity, do not digest milk while looking around. To cure these types of symptoms, the drug Pastinica parsnip is used and its roots are used as a diet, by boiling it in water or making a decoction, or as a salad, to cure tuberculosis and kidney stones patients. Used for. Paris quadrifolia can also be used to cure the symptoms of similar disease. Therefore, some properties of the drug Pustinica can be compared with the drug Paris quadrifolia.

प्रतिकूल :
फर-फा।
प्रतिविष :
काफिया औषधि का उपयोग पैरिस क्वाड्रिफोलिया औषधि के हानिकारक प्रभाव को नष्ट करने के लिए किया जाता है।
The drug Kafia is used to destroy the harmful effects of the drug Paris quadrifolia.

Side effects of Paris quadrifolia 
साइड इफेक्ट :
There are no such side effects. But every medicine should be taken following the rules as given. 
ऐसे कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं। लेकिन हर दवा को दिए गए नियमों का पालन करना चाहिए।

It is safe to take the medicine even if you are on other mode of medication like allopathy medicines, ayurvedic etc. 
यदि आप अन्य प्रकार की दवा जैसे एलोपैथी दवा, आयुर्वेदिक आदि पर हैं तो भी दवा लेना सुरक्षित है।

Homeopathic medicines never interfere with the action of other medicines.
होम्योपैथिक दवाएं कभी भी अन्य दवाओं की कार्रवाई में हस्तक्षेप नहीं करती हैं।

Dosage and rules while taking Paris quadrifolia
लेते समय खुराक और नियम:

Take 5 drops in half cup of water three times a day.
आधा कप पानी में 5 बूंद दिन में तीन बार लें।

How to take medicine :
1 : Take homeopathic medicine 30-40 minutes before meals or 30-40 after meals.
होम्योपैथिक दवा भोजन से 30-40 मिनट पहले या भोजन के 30-40 मिनट बाद लें।

2 : After taking a homeopathic medicine, keep a gap of 5 to 10 minutes in the second medicine.

होम्योपैथिक दवा लेने के बाद दूसरी दवा में 5 से 10 मिनट का अंतर रखें।

Terms and conditions:
Homeopathic products should be used on the basis of symptoms.
For best results of homeopathic medicine the drug should be used according to the consultation of a doctor.
लक्षणों के आधार पर होम्योपैथिक उत्पादों का उपयोग किया जाना चाहिए।
होम्योपैथिक दवा के सर्वोत्तम परिणामों के लिए दवा का उपयोग डॉक्टर के परामर्श के अनुसार किया जाना चाहिए।

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

%d bloggers like this: