Shopping cart
₹0.00

Willmar Schwabe India Abies Nigra 30 CH (30ml)

90.00

For Constipation, Cough, Dyspepsia, Eructations, Hemorrhages, Malaria
कब्ज, खांसी, अपच, संक्रमण, नकसीर,मलेरिया के लिए।

Description

Willmar Schwabe India Abies Nigra 30CH

Abyss nigra (black spruce) (abi nai)
एबिस नाइग्रा (ब्लैक स्प्रुस) (एबि नाइ)(Abies Nigra)

Common Name: Black or Double Spruce, Tincture of the gum.
सामान्य नाम: काले या डबल स्प्रूस, गोंद की मिलावट।

Medicine Name : Abies Nigra
Company Name : Willmar Schwabe India
Ingredients Base : Homeopathic
Form : Drops
Presentation : 30 ML
Potency : 30Ch (Dilution) (Mother Tincture)

About :
Abis nigra drug is very beneficial in many types of diseases in which symptoms related to stomach are more common. Its action has an effect on the mucous edges of the stomach and also has an effect on the body. In diseases in which digestive defects are seen more, this drug is also very useful in curing those diseases. It is more useful for curing old people heart disease and loss of appetite, diseases caused by tea and tobacco, constipation and pain in the outer pores and pores of the body.
The mind remains highly depressed and depressed and the state of insanity persists, being unable to do the work of reading or writing, having a slight blur in the brain, a mild headache, a strange feeling of being unable to express, Feeling bad and bad, head warm and redness and heaviness on cheeks. If these symptoms are present in the patient, then Abis nigra drug is very useful for its treatment.

कई प्रकार के रोग जिनमें आमाशय से सम्बन्धित लक्षण अधिक देखने को मिलते हैं, उन रोगों को ठीक करने में एबिस नाइग्रा औषधि बहुत लाभदायक है। इसकी क्रिया का प्रभाव आमाशय के श्लैष्मिक किनारों पर होती है और इसका प्रभाव शरीर पर भी पड़ता है। जिन रोगों में पाचन दोष अधिक देखने को मिलता है, उन रोगों को ठीक करने में भी यह औषधि बहुत उपयोगी है। बूढ़े व्यक्तियों को होने वाला हृदय रोग तथा भूख कम लगने वाले रोग, चाय तथा तम्बाकू के कारण उत्पन्न रोग, कब्ज तथा शरीर के बाहरी रोम छिद्रों तथा रंध्रों में होने वाले दर्द को ठीक करने के लिए यह अधिक उपयोगी है।
मन अत्यधिक खिन्न और उदास रहता है तथा पागलपन की अवस्था बनी रहती है, पढ़ने या लिखने के कार्य करने में असमर्थ होना, मस्तिष्क में धुंधला सा रहना, हल्का-हल्का सिर में दर्द रहना, अजीबों-गरीब अनुभव होना जिसे व्यक्त न कर पाना, बुरा-बुरा सा महसूस होना, सिर गर्म और गालों पर लालिमा तथा भारीपन महसूस होना। ये लक्षण यदि रोगी में है तो उसका उपचार करने के लिए एबिस नाइग्रा औषधि बहुत उपयोगी है।

Dosage:
Take 5 drops in half cup of water three times a day.
आधा कप पानी में 5 बूंद दिन में तीन बार लें।

How to take medicine :
1 : Take homeopathic medicine 30-40 minutes before meals or 30-40 after meals.
होम्योपैथिक दवा भोजन से 30-40 मिनट पहले या भोजन के 30-40 मिनट बाद लें।

2 : After taking a homeopathic medicine, keep a gap of 5 to 10 minutes in the second medicine.
होम्योपैथिक दवा लेने के बाद दूसरी दवा में 5 से 10 मिनट का अंतर रखें।

Terms and conditions:
Homeopathic products should be used on the basis of symptoms.
For best results of homeopathic medicine the drug should be used according to the consultation of a doctor.
लक्षणों के आधार पर होम्योपैथिक उत्पादों का उपयोग किया जाना चाहिए।
होम्योपैथिक दवा के सर्वोत्तम परिणामों के लिए दवा का उपयोग डॉक्टर के परामर्श के अनुसार किया जाना चाहिए।

Additional information

Weight 0.75 g
Dimensions 3 × 3 × 9 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

%d bloggers like this: